डॉ. एम. डी. थॉमस

डॉ. एम. डी. थॉमस ‘इंस्टिट्यूट ऑफ हारमनि एण्ड पीस स्टडीज़’, नयी दिल्ली, के संस्थापक निदेशक हैं। ‘खुली सोच से सामाजिक तालमेल की ओर’ आपकी ज़िंदगी का परम आदर्श है, आपके संस्थान का भी।

आप ‘समन्वय धर्म और संस्कृति संस्थान’, उज्जैन, के संस्थापक निदेशक एवम् ‘सर्व धर्म समन्वय आयोग’, सी.बी.सी.आई. (कैथॅलिक ईसाई समुदाय के राष्ट्रीय संघ), नयी दिल्ली, के राष्ट्रीय निदेशक और अर्ध-वार्षिक सर्व-धर्म पत्रिका ‘फैलोशिप’ के संपादक भी रहे।

  • Recent Programes
  • हाल ही के कार्यक्रम​

Views as a Member on ‘Reviving Parliament of Religions in Delhi’ – organized by ‘Think Tank’ of Archdiocese of Delhi – at Archdiocese of Delhi, New Delhi – on 22 March 2021


‘ईसा: ईश्वर हमारे साथ है’ विषय पर विचार -- ईसा-जयंती सर्व धर्म समारोह के दौरान -- राम कृष्ण मिशन, नयी दिल्ली, में -- 24 दिसंबर 2020 को

  • Recent Publications
  • हाल ही के प्रकाशन

Article on ‘Election Commission to Rise to ‘Sheshan’ Standards!’ – in ‘The Secular Citizen’ (Weekly Magazine), Mumbai, Vol. 30, Issue No 18, p.10, 13 – on 03-09 May 2021


‘जी उठकर ईसा ने अमरता की राह बतायी’ विषय पर लेख -- संदेश (मासिक), पटना, वर्ष 72, अंक 4, पृ. सं. 14-15 -- अप्रेल 2021 में

  • Recent Lectures
  • हाल ही के व्याख्यान

Lecture on ‘Eternal Life’ – during Webinar on ‘Eternal Life’ – organized by Office of Interfaith Dialogue, World Alliance of Religions for Peace (Warp), Seoul, South Korea -- on 31 March 2021


‘अहिंसा और अनेकांतवाद के जरिये सर्वधर्म सरोकार की ओर’ विषय पर व्याख्यान -- ‘पारस टीवी’, फरीदाबाद, हरियाणा, पर -- ‘भगवान महावीर जन्म कल्याणक महोत्सव (महावीर जयंती)’ के अवसर पर सर्व धर्म कार्यक्रम के दौरान -- श्री दिगंबर जैन महासमिति, नयी दिल्ली, द्वारा आयोजित -- 25 अप्रेल 2021 को

  • My Quotes
  • मेरे उद्धरण

'Secularism, as per the Constitution of India, is an ‘all-inclusive perspective’ that facilitates ‘imbibing the spirit and values of all traditions of faith and ideology’ that are present in India, whether Indic or non-Indic in origin.'

(Published in 'Paths to Dialogue in Our Age' (Vol.II), Australian Catholic University, Melbourne, 2015, p.380)